2 अप्रैल से चैत्र नवरात्रि शुरू होने वाली है ऐसे में हमे इन सभी  बातो को जरूर ध्यान रखना चाहिए 

इस वर्ष चैत नवरात्रि के पहले दिन 2 अप्रैल को कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 22 मिनट से सुबह 8 बजकर 31 मिनट तक रहेगा।

नवरात्रि में किसी भी दिन नाख़ून नहीं काटने चाहिए। माना जाता की ऐसा करने से देवी माँ क्रोधित हो जाती हैं जिससे उनकी कृपा नहीं होती है।

नवरात्रि के दिनों में बाल नहीं काटने चाहिए साथ ही शेविंग भी नहीं करनी चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि नवरात्रि में बाल काटने से भविष्य में सफल होने की संभावना हो जाती है।

नवरात्रि के दिनों में चमड़े की बेल्ट, जूते, जैकेट इत्यादि नहीं पहनने चाहिए।  क्योंकि चमड़ा जानवरों की खाल से बना होता है।  इसलिए ये पवित्र नहीं माना जाता है।

नवरात्रि में मीट मांस का सेवन नहीं करनी चाहिये। मीट मांस का सेवन करने से माता रानी कभी आपके घर पर वास नहीं करेगी।

नवरात्रि के दिनों में प्याज और लहसुन का सेवन नहीं करना चाहिए।  हिंदू धर्म के अनुसार प्याज और लहसुन को तामसिक भोजन के रूप में माना जाता है, जो अशुभ माना जाता है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार किसी भी पर्व और त्यौहार में शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।इसलिए नवरात्रि में शराब आदि से दूर रहना चाहिए।

नवरात्रि के  दौरान दोपहर के समय नही सोना चाहिए क्योंकि उपवास से प्राप्त होने वाले सभी अच्छे कर्म के फल दिन में सोने से व्यर्थ हो जाते हैं। 

नवरात्रि के नौ रूप के बारे में जानने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें। 

Arrow