आइये हम आपको बताते हैं कि इस आदमी ने आखिर क्यों ऐसा किया।

आपको बता दें इस आदमी का नाम साधु अमर भारती है पहले ये अपने परिवार के साथ रहते थे

1970 के दशक में भारती एक भारतीय बैंक में काम कर रहे थे, अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ एक मामूली जीवन जी रहे थे।

अचानक उन्होंने अपना पूरा जीवन शिव, एक हिंदू देवता को समर्पित करने के लिए सब कुछ त्यागने का फैसला किया।

उसके बाद उन्होंने अपना हाथ हमेशा के लिए ऊपर रखने का फैसला कर लिया तभी से आजतक उनका हाथ कभी नीचे नहीं आया।

उनका एक दाहिना हाथ ऊपर उठा रहता है व गुरुत्वाकर्षण बल के कारण उनके हाथ में चर्बी भी नहीं बची ह ऐसा लगता है जैसे हड्डी पर मांस की कवर किया हो।

इन्होने अपने दाहिने हाथ के नाख़ून भी नहीं काटे हैं जो इतने सालो बाद बहुत लम्बे हो गये हैं।

अमर भारती जी का कहना था - कि हम आपस में क्यों लड़ते हैं, हमारे बीच इतनी नफरत और दुश्मनी क्यों है? मैं चाहता हूं कि सभी भारतीय शांति से रहें। मैं चाहता हूं कि पूरी दुनिया शांति से रहे।

लगभग दो वर्षो तक भारती जी को बहुत दर्द का सामना करना पड़ा था उसके बाद उनका यह दर्द कम होने लगा था।

फलों से जुड़े कुछ रोचक तथ्य जानने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कीजिये।

Arrow