अमिताभ बच्चन जुलाई 1982 में कुछ दिनों से लगातार बेंगलुरु में 'कुली' फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. यह शूटिंग बेंगलुरु के रेलवे स्टेशन में हुई थी।

एक फाइट सीन में फ़िल्म में खलनायाक बने अभिनेता पुनीत इस्सर ने अमिताभ को पेट में घूंसा मारना था.

पुनीत ने जब घुसा मारा तो गलती से वो इतनी तेज लगा की उनकी आंत फट गयी जिसकी वजह से उनके पेट में बहुत दर्द उठने लगा।

अमिताभ बच्चन जी का इलाज मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में चला जहां से वो मौत से जंग जीतकर लौटे थे।

जब अमिताभ जी अस्पताल में मौत की जंग लड़ रहे थे तब उनकी सेहत के लिए देश भर में प्रार्थना की जा रही थी।

अमिताभ ने ब्रीच कैंडी अस्पताल में पुनीत को बुलाया था और कहा था कि वो खुद को दोषी न मानें क्योंकि इसमें उनकी कोई गलती नहीं थी।

इस हादसे के बाद पुनीत के करियर पर भी बहुत असर पड़ा था

पुनीत को करीब 6 साल तक किसी ने काम नहीं दिया। लोग डरते थे कि अगर फिर कोई फाइट सीन हुआ तो न जाने क्या होगा।

अमिताभ बच्चन की "कुली" मूवी आज भी सुपरहिट मूवी मे से एक है। जिसे लोग हमेशा देखना पसंद करते हैं।

इस तरह की अन्य पोस्ट पढ़ने के लिए आप निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर सकते हैं। 

Arrow